बलिया CMO की निर्भया के दादा से बदसलूकी, कहा- उसे दिल्ली क्यों भेजा था, यहीं रखना चाहिए था

देश बड़ी ख़बर

नई दिल्ली। बलिया (Ballia) के सीएमओ (CMO) द्वारा दिल्ली गैंगरेप पीड़िता निर्भया (Nirbhaya) के बाबा से बदसलूकी का मामला सामने आया है। दरअसल, निर्भया के पैतृक गांव बलिया में निर्भया के नाम पर अस्पताल बना है। अस्तपाल में डॉक्टर की मांग के लिए निर्भया के परिजन धरने पर बैठे थे। जिसके बाद मौके पर पहुंचे सीएमओ ने निर्भया के परिजनों संग बदसुलूकी। उन्होंने कहा जिस गांव में कोई डॉक्टरी पढ़ा नही उस गांव के अस्पताल में डॉक्टर नही देंगे। इतना ही नहीं सीएमओ ने निर्भया का भी अपमान किया। जिस पर निर्भया के दादाजी ने आपत्ति जताई।

निर्भया को भी किया अपमानित

धरना स्थल पर पहुंचे बलिया के सीएमओ डॉ प्रीतम कुमार मिश्र ने कहा, “आज तक निर्भया के गांव में कोई डॉक्टरी तो पढ़ा नहीं और इन्हें डॉक्टर चाहिए। पहले इस गांव में कोई डॉक्टरी पढ़े, फिर इसी अस्प्ताल में डॉक्टर बन जाओ। इस गांव ने डॉक्टर तो बनाया नहीं तो अस्पताल क्यों खुलवाया। हम कहां से डॉक्टर लाएं। जितने पद हैं, उतने डॉक्टर ही पैदा नहीं होते। अस्पताल हमने नहीं बनवाया. जिसने बनवाया उससे मांगे।” इतना ही नहीं सीएमओ ने निर्भया को भी नही छोड़ा और उसे भी अपमानित किया। सीएमओ ने कहा, “कौन है निर्भया? अगर वह डॉक्टरी पढ़ रही थी तो दिल्ली क्यों गई?”

सपा सरकार में बना था अस्पताल, आज तक नहीं पहुंचे डॉक्टर

बता दें निर्भया के पैतृक गांव मड़ावरा कला में निर्भया के नाम पर सपा सरकार ने अस्पताल बनवाया था, ताकि निर्भया का सपना पूरा हो सके। निर्भया का सपना था कि वह डॉक्टरी पढ़ कर गांव में अस्पताल खोले। पांच साल पहले अस्पताल तो आधा-अधूरा बन गया, लेकिन आज तक डॉक्टर और नर्स की तैनाती नहीं हुई। इसी से नाराज होकर निर्भया के दादाजी की अगुआई में गांव वाले धरने पर बैठे थे। जिसके बाद सीएमओ डॉ प्रीतम कुमार मिश्र उन्हें आश्वासन देने पहुंचे थे। लेकिन इस दौरान बहस हो गई। इसके बाद डॉ साहब सारी हदों को पार कर गए। इस पर निर्भया के नाराज दादाजी ने कहा कि उनकी पोती को अपमानित न किया जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *